ऊर्जा विभाग में दो पूर्व एमडी पर गिरेगी गाज? जांच रिपोर्ट पर होना है फैसला

ऊर्जा विभाग के घोटालों की जांच में अब तेजी आएगी। सालों से शासन में लटकी जांच रिपोर्ट पर लंबे समय से कार्रवाई नहीं हुई है। नई ऊर्जा सचिव सौजन्या ने साफ किया कि जल्द जांच पूरी होंगी। शासन में कुंभ मेला 2010 की वित्तीय गड़बड़यिों की जांच पर अभी तक एक्शन नहीं हुआ है। जबकि 2021 का कुंभ मेला तक समाप्त हो चुका है। पॉवर सेक्टर के घपलों में दो पूर्व एमडी निशाने पर हैं। उनके खिलाफ ही अधिकतर जांच चल रही है।

इसके बाद भी अभी तक 2010 के प्रकरण पर आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जबकि पूरे प्रकरण की फाइनल जांच रिपोर्ट शासन में चार साल से भी अधिक समय से डंप पड़ी है। इस प्रकरण के अधिकतर आरोपी अभी तक रिटायर हो चुके हैं। मुख्य अभियंता स्तर से एक अफसर अभी तक शेष रिटायर होने से बचे हैं।

इसके साथ ही दो पूर्व एमडी के खिलाफ की गई जांच की रिपोर्ट पर भी एक्शन नहीं हुआ है। एक मामले में जांच अपर सचिव भूपेश तिवारी और दूसरे प्रकरण में जांच अपर सचिव आशीष श्रीवास्तव ने की थी। दोनों मामलों में कार्रवाई डंप है। 

दो पूर्व एमडी की जांच रिपोर्ट पर होना है फैसला
पॉवर सेक्टर के घपलों में दो पूर्व एमडी निशाने पर हैं। उनके खिलाफ ही अधिकतर जांच चल रही है। इसके साथ ही कुछ निदेशकों के खिलाफ भी जांच चल रही है। अधिकतर हाईप्रोफाइल लोग होने के कारण कार्रवाई नहीं होने पर सवाल भी उठ रहे हैं। 

345

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *