सूदखाेरों पर शिकंजा कसने के लिए बरेली पुलिस ने चलाया ऑपरेशन मुक्ति, जानें क्या है ऑपरेशन

कोरोना की पहली लहर में बरेली के पूर्व आइजी राजेश पांडेय के पास सबसे ज्यादा मामले सूदखोरी के पहुंचे। सूदखोरों के बढ़ते दुस्साहस पर लगाम के लिए पूर्व आइजी ने रेंज में सूदखाेरों के खिलाफ आपरेशन मुक्ति चलाया। आपरेशन में सूदखोरों पर शिकंजा कसा, मुकदमें दर्ज हुए। सूदखोरों की धड़-पकड़ हुई। कोरोना कफ्र्यू की दूसरी लहर में एक बार फिर सूदखोरी के सर्वाधिक मामले सामने आ रहे हैं। सूदखाेरों पर शिकंजा कसने के लिए रेंज में एक बार फिर से ऑपरेशन मुक्ति चलेगा। आइजी रमित शर्मा ने रेंज के पुलिस कप्तानों को इस बावत निर्देश जारी किए हैं।

रेंज के शाहजहांपुर जनपद में दवा व्यापारी ने सूदखोर के उत्पीड़न से तंग आकर परिवार सहित खुदकुशी कर ली थी। मामले की गूंज शासन तक पहुंची थी। बीते दिनों उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता उर्फ नंदी ने इस संबंध में कमिश्नर आर रमेश कुमार, एडीजी अविनाश चंद्र, आइजी रमित शर्मा, डीएम नितीश कुमार और एसएसपी रोहित सिंह सजवाण के साथ बैठक की थी। साफ निर्देश दिया था कि शराब माफियाओं की तरह सूदखोरों पर भी शिकंजा कसा जाए। उनको चिन्हित कर उनकी संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई की जाए। इधर, शाहजहांपुर का मुद्दा शांत भी नहीं हुआ था कि सुभाषनगर में भी सेल्समैन ने सूदखोरों से तंग आकर खुदकुशी कर ली। इसी के बाद आइजी रमित शर्मा ने रेंज के पुलिस अधीक्षकों को सूदखोरों पर शिकंजा कसने के निर्देश दिए हैं।

454

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *