मुंबई-दिल्ली से आने वालों की बगैर जांच बरेली में नो एंट्री

शासन के अलर्ट के बाद कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीमें सक्रिय हो गई हैं। संवेदनशील जिलों की सूची में रहे बरेली में ट्रैकिंग और ट्रेसिंग बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने रेलवे जंक्शन, टोल प्लाजा, बस स्टेशनों पर सैंपलिंग के लिए टीमें गठित कर दी हैं। मुंबई और दिल्ली से आने वालों की निगरानी के साथ संक्रमित पाए गए लोगों की जीनोम सीक्वेंसिंग होगी।

प्रदेश में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ और ‘कप्पा’ के मामले सामने आने से स्वास्थ्य विभाग चिंतित है। इन्हें कोरोना की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार माने जा रहे वायरस ‘डेल्टा’ और ‘एवाई-1’ का बदला स्वरूप बताया जा रहा है। वायरस के नए स्वरूप से संक्रमित मिले लोग दूसरे राज्यों से लौटे थे। शनिवार को मुंबई से वापस आए एक कारोबारी के संक्रमित मिलने पर उसे कोविड चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। अब शासन ने भी सतर्कता बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। लिहाजा स्वास्थ्य विभाग ने सैंपलिंग का शेड्यूल तय कर दिया है।

दूसरे राज्यों खासकर मुंबई और दिल्ली से आने वालों की प्रमुखता से जांच और उनकी निगरानी के निर्देश टीम को दिए गए हैं। सीएमओ डॉ. सुधीर गर्ग ने बताया कि सैंपलिंग के लिए टीमें रेलवे जंक्शन, सिटी स्टेशन और इज्जतनगर रेलवे स्टेशन पर तैनात रहेंगी। जो दिल्ली और मुंबई से आने वाले यात्रियों की जांच करेंगी। जीआरपी और आरपीएफ के जवानों का सैंपलिंग में सहयोग लिया जाएगा।

574

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *