बरेली: चार फ़ैक्टरी पर होगी बड़ी कार्यवाही

टॉफी और सोया कुरकुरे जैसी चीजों में खतरनाक मिलावट कर बच्चों की सेहत से खेलने वालों पर कार्यवाही होगी | परसाखेड़ा और सीबीगंज औद्योगिक क्षेत्र की चार फैक्ट्रियों में इस तरह की गड़बड़ियां मिलने के बाद एसीएम ने अपनी जांच रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दिए | इसमें उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की सिफारिश की गई है। होली से पहले डीएम नीतीश कुमार के निर्देश पर मिलावट खोरों के खिलाफ अभियान चलाया गया था जिसमें एसडीएम, एसीएम और एफएसडीए के अधिकारियों ने कई फैक्ट्रियों में छापे मारकर नमूने लिए थे और मिलावट की आशंका में स्टॉक भी सीज कर दिया था | टॉफी बनाने वाली फैक्ट्री जय माता में हुई जांच में केमिकल और संदिग्ध रंगों का इस्तेमाल होने का पता चला था | टीम ने फैक्ट्री में मिले केमिकल और रंग समेत करीब ₹100000 से ज्यादा कीमत का स्टॉक नष्ट करा कर 52 कार्टन स्टॉक से सीज कर दिया था | साईं बीरबल दास फूड्स नाम की फैक्ट्री में 1 महीने बाद की तिथि में पैकिंग होती हुई मिली थी | इसी फैक्ट्री में नमकीन सोया कुरकुरे आदि उत्पादों की पैकिंग में खिलौने भी पैक किए हुए थे | लाइसेंस की शर्त में पैकिंग में इसकी अनुमति ना होने के कारण इसे भी अनियमितता माना गया | एसके इंडस्ट्रीज में लक्ष्मी नाम से पैकिंग होती मिली जबकि इस ब्रांड का उत्पाद बनाने का लाइसेंस नहीं था | इस फैक्ट्री में बन रही नमकीन में भी गड़बड़ियां मिली पैकिंग में चम्मच प्लेट जैसे आइटम से भी डाले गए थे जबकि लाइसेंस में इसकी अनुमति नहीं थी | अधिकारियों के मुताबिक बच्चों के खाने पीने की चीजों के साथ केमिकल युक्त खिलौने पैक करना खतरनाक साबित हो सकता है| दरअसल बच्चे खिलोनो के लालच में आकर ही खाने पीने की चीजें खरीदते हैं | इस बाल मनोवैज्ञानिक को ही यह कारोबारी अपने मुनाफे का हथियार बनाते हैं | खेल खेल में बच्चे खिलौने को मुंह में भी रख लेते हैं | लिहाजा यह बच्चों की सेहत के लिए बेहद घातक हो सकते हैं | एसीएम ने चारों फैक्ट्रियों के खिलाफ डीएम को सौंपी अपनी रिपोर्ट में गड़बड़ियों को गंभीर और लाइसेंस की शर्तो का उल्लंघन बताया है | माना जा रहा है चारों फैक्ट्रियों के लाइसेंस निलंबित करने के साथ उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही भी हो सकती है | एसडीएम सिटी महेंद्र कुमार ने बताया कि एडीएम से अनुमति लेकर रिपोर्ट के मुताबिक फैक्ट्रियों पर कार्यवाही होगी |

672

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *